Sahity.in से जुड़ें @WhatsApp @Telegram @ Facebook @ Twitter

आदिमानवों का बसेरा : कुटुम्बसर गुफ़ा (kutumbsar gufa )

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

आदिमानवों का बसेरा : कुटुम्बसर गुफ़ा

  • छत्तीसगढ़ में जगदलपुर के निकट
  • गुफ़ा मानव द्वारा निर्मित (‘केम्पीओला शंकराई गुफ़ा’)
  • गुफ़ा के अंधेरे में कई रहस्य छुपे हुए
  • कुटुम्बसर गुफ़ा में आदिमानवों का बसेरा
  • गुफ़ा में अंधी मछलियाँ
  • शोध कार्य को लेकर पूरे विश्व में इस गुफ़ा की प्रसिद्धि
  • गुफ़ा की खोज 1951 में प्रसिद्ध भूगोल वैज्ञानिक डॉ. शंकर तिवारी ने की
  • ‘कोटमसर’ का अर्थ “पानी से घिरा क़िला”(स्थानीय भाषा में )
  • गुफ़ा में प्रागैतिहासिक मनुष्यों के रहने के अवशेष
  • लाइम स्टोन से बनी बाहरी और आन्तरिक सतह ,निर्माण लगभग 250 करोड़ वर्ष पूर्व
  • शिवालय से नीचे तीन जलप्रपात या झरने- पहला झरना तीस फिट उँचाई
  • नीचे उतरने के बाद लगभग साढे तीन इंच चौड़ा, पैंतालीस इंच उँचा व 65 इंच लंबा एकअंधकारमय गलियारा ,दाहिनी ओर चूने की चटटाने हैं, जिन पर जल के बहने के निशान
  • बांयी ओर बंद छत पर लटकते हुए स्तंभों के दर्शन , वह अपने आप प्राकृतिक तरीके से बने हैं

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a comment