Sahity.in से जुड़ें @WhatsApp @Telegram @ Facebook @ Twitter

छत्तीसगढ़ की विशिष्ट भौगोलिक स्थल

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

छत्तीसगढ़ की विशिष्ट भौगोलिक स्थल

  • छत्तीसगढ़ का काशी/ वाराणसी– खरौद
  • प्रदेश का मॉरिशस -बुका (कोरबा)
  • छत्तीसगढ़ का प्रयाग -राजिम (महानदी, पैरी, सोंढूर का त्रिवेणी संगम)
  • प्रदेश का खजुराहो – भोरमदेव
  • छत्तीसगढ़ का शिमला -मैनपाट
  • अबूझमाड़ का प्रवेश द्वार -ओरछा
  • बस्तर का प्रवेशद्वार -तेलीन घाटी (केशकाल)
  • छत्तीसगढ़ का चित्तौड़ -लाफागढ़
  • प्रदेशका कश्मीर -चैतुरगढ़
  • छत्तीसगढ़ का नागलोक -तपकरा (सर्प अनुसंधान केन्द्र-जशपुर)
  • प्रदेश का नृजातीय म्यूजियम -जगदलपुर
  • छत्तीसगढ़ में चौराहों का शहर -जगदलपुर
  • प्रदेश का स्वीट्जरलैण्ड -सन्नाहिल (जशपुर
  • छत्तीसगढ़ का चेरापूंजी -अबूझमाड़
  • सबसे प्राचीन मंदिर-देवरानी-जेठानी मंदिर (तालागाँव, बिलासपुर)
  • छत्तीसगढ़ में तालाबों की नगरी-रतनपुर
  • मंदिरों की नगरी– आरंग
  • छत्तीसगढ़ की जीवन रेखा-महानदी (858 कि.मी., छत्तीसगढ़ में लम्बाई 286 कि.मी.)
  • फूलों की घाटी-लोरोघाट (जशपुर)
  • तलाबों एवं टंकियों की नगरी– रतनपुर
  • छत्तीसगढ़ की संस्कार धानी-राजनांदगांव
  • छत्तीसगढ़ में ज्ञान की राजधानी– भिलाई
  • खेल की राजधानी-राजनांदगांव
  • भारत संघ में धान का कटोरा “Bowlof Rice”– छत्तीसगढ़

आशा है आपको Chhattishgarh Sahitya General Studies  का यह Post ( छत्तीसगढ़ की विशिष्ट भौगोलिक स्थल ) जानकारीप्रद लगी होगी। यदि हाँ, तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ Share जरुर करें। यदि इसके अतिरिक्त, Post Related कुछ और जानकारियाँ हो तो Comment Box में जरुर लिखें . हम उन्हें अगली बार जरुर Update करेंगे. आप से नीचे दिए गए Link से जुड़ सकते हैं

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a comment