राजीव गांधी किसान न्याय योजना वर्ष 2021

राजीव गांधी किसान न्याय योजना वर्ष 2021


पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गांधी जी के शहादत दिवस (21 मई को 1500 करोड़ रूपए की प्रथम किश्त जारी

योजना के प्रमुख बिन्दु

  • खरीफ वर्ष 2020-21 में किसानों से क्रय किये गये धान पर 9,000 रूपए प्रति एकड़ की दर से इनपुट सब्सिडी दी जाएगी। आगामी वर्षों में भी खरीफ सीजन में धान उत्पादन कृषकों को प्रति वर्ष 9,000 रूपए प्रति एकड़ की दर से इनपुट सब्सिडी दी जाएगी।
  • वर्ष 2020-21 में जिन किसानों ने धान विक्रय (MSP पर) किया था, वह यदि धान के बदले कोदो-कुटकी, गन्ना, अरहर, मक्का, सोयाबीन, दलहन, तिलहन, सुगन्धित धान, अन्य फोर्टिफाइड धान की फसल लेते हैं अथवा वृक्षारोपण करते हैं तो उसे प्रति एकड़ 9,000 रूपए के स्थान पर 10,000 रूपए इनपुट सब्सिडी देय होगी। वृक्षारोपण करने वालों को 3 वर्षों तक अनुदान देय होगा।
  • खरीफ वर्ष 2021-22 में धान के साथ ही खरीफ की सभी प्रमुख फसलों मक्का,सोयाबीन, गन्ना, कोदो-कुटकी तथा अरहर के उत्पादकों को भी प्रति वर्ष 9,000 रूपए एकड़ की दर से इनपुट सब्सिडी दी जाएगी।
  • कोदो-कुटकी का न्यूनतम समर्थन मूल्य 3,000 रूपए प्रति क्विटल होगा।