Sahity.in से जुड़ें @WhatsApp @Telegram @ Facebook @ Twitter

छत्तीसगढ़ी शब्दावली – गीत व नृत्य

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

छत्तीसगढ़ी शब्दावली – गीत व नृत्य

इस पोस्ट में आप छत्तीसगढ़ी शब्दावली – गीत व नृत्य के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे यदि कहीं पर आपको त्रुटिपूर्ण लगे तो कृपया पोस्ट के नीचे कमेंट बॉक्स पर लिखकर हमें सूचित करने की कृपा करें.

नृत्य –

सुवा, करमा, राउतनाचा, डंगचगहा नाचा, बघवा नाचा, ढोलामारी, गम्मत, तमासा, पंथीनाचा, गोंडनाचा, डंडानाच, बिहावनाचा, डिडवानाचा, फी नाचा, बरतिया नाचा, रामनामी, पंडवानी, फाग, जंवारा, गौरा-गौरी, डिड्वानाचा, गांडा, ढोला, तारि-नारि।

लोकगीत–

छत्तीसगढ़ी लोकगीतों में वैविध्यता और विशिष्टता को दृष्टिगत रखते हुए उसकी अंतर्वस्तु के आधार पर निम्नप्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है –

(क) संस्कार गीत – जन्म-गीत, बधावा, सोहर, बरूवा, बिहाव-गीत, चूलमाटी-गीत, तेलमाटी, माय-मौरी, नहडोरी, परघनी, रातीभाजी या लाली भाजी-गीत, भडौनी, कलेवना, डिंडवानाचा-गीत, भावर, दाईज-गीत, बिदाई-गीत, मरनी-गीत।

(ख) ऋतु एवं व्रत गीत – छेरछेरा, सवनाही, कार्तिक स्नान-गीत, नगमत-गीत, फाग (होली), बारामासी।

(ग) धार्मिक गीत – भोजली, गौरा, माता-सेवा, भोजली।

(घ) नृत्य गीत – करमा, सुवा, डण्डा, सैला, राऊतनाचा, फडी-नृत्य-गीत,

(ङ) जाति-गीत – रमरमिया, देवार-गीत, पंथी-गीत, मंगल-चौका-गीत, बसदेवा-गीत, गोंडवाना-गीत, बारगीत, बाँसगीत।

(च) मनोरंजनात्मक गीत – ददरिया, लोरी, गम्मत-गीत।

(छ) बालगीत – फुगङडी, केऊ-मेऊ, डुडवा।

(ज) गाथात्मक एवं स्वतंत्र गीत – लोरिक चंदैनी-गीत, पंडवानी, ढोलामारू, भरथरी, आल्हा।

(झ) अन्य गीत – ढोलकी-गीत, माँझी-गीत, बैना-गीत, संध्या-गीत, संदेश-गीत, भजन, रास, भरनी, साल्हो, चौका, बार, नंगमत, मैना।

वाद्ययंत्र–

मांदर, मंदरी, ढोल, ढोलक, ढोलकी, डफडा, निसान, पेटी(हारमोनियम), बेंजो, तबला, मंजीरा, झांझ, खंझेरी, चिमटा, मोहरी (तुरही या शहनाई), टिमटिमी, बाँस, बँसरी, करत्ताल।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a comment