Sahity.in से जुड़ें @WhatsApp @Telegram @ Facebook @ Twitter

ठाकुर प्यारेलाल सिंह

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

ठाकुर प्यारेलाल सिंह का जन्म 21 दिसम्बर, 1891 ई. में राजनांदगाँव जिले के देहान ग्राम में हुआ था. उनके पिता ठाकुर दीनदयाल सिंह शान्त, गम्भीर एवं अनुशासनप्रिय व्यक्ति थे. उनकी पत्नी का नाम गोमती देवी था.

ठाकुर प्यारेलाल सिंह

image ठाकुर प्यारेलाल सिंह
ठाकुर प्यारेलाल सिंह

प्रारम्भिक शिक्षा राजनांदगाँव में और उच्च शिक्षा उन्होंने रायपुर, नागपुर, जबलपुर और इलाहाबाद में प्राप्त की. सन् 1909 में ठाकुर प्यारेलाल सिंह ने राजनांदगाँव में सरस्वती पुस्तकालय की स्थापना की. वाद में वह राजनीतिक गतिविधियों का केन्द्र बन गयी. वे विद्यार्थियों के जुलूस में ‘वन्देमातरम्’ के नारे के साथ निकलते थे, जबकि ऐसा करना उस समय अपराध माना जाता था.

छत्तीसगढ़ में श्रमिक आन्दोलन का सूत्रपात कर राजनांदगाँव मिल में उन्होंने मजदूरों की 36 दिनों लम्बी सफल हड़ताल करायी. वे असहयोग आन्दोलन में पूर्ण सक्रिय रहे. सन् 1923 ई. में उन्होंने नागपुर में सत्याग्रह आन्दोलन प्रारम्भ किया. शीघ्र ही नागपुर सत्याग्रह का केन्द्र बन गया.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave a comment